December 2021

शास्त्रीय भाषा क्या होती है | भारत मे वर्तमान मे कितनी शास्त्रीय भाषाएँ हैं

शास्त्रीय भाषा क्या होती है? भारत की शास्त्रीय भाषा कौन सी है? शास्त्रीय भाषा: नमस्कार दोस्तों आनंद सर्किल में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। आज हम चर्चा करेंगे शास्त्रीय भाषा किसे कहते हैं, किसी क्षेत्र या देश में किसी भाषा को शास्त्रीय भाषा(Classical language) घोषित करने की क्या अवधारणाएं हैं, किस प्रकार से किसी […]

शास्त्रीय भाषा क्या होती है | भारत मे वर्तमान मे कितनी शास्त्रीय भाषाएँ हैं Read More »

राष्ट्रवाद एवं राष्ट्रीयता में अंतर | भारतीय राष्ट्रवाद बनाम यूरोपीय राष्ट्रवाद

नमस्कार दोस्तों, आनंद सर्किल में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। आज हम चर्चा करेंगे राष्ट्रवाद एवं राष्ट्रीयता में क्या अंतर है? क्यों भारत के राष्ट्रवाद को यूरोपीय देशों की भांति राष्ट्रवाद ना कह कर राष्ट्रीयता कहना अधिक प्रासंगिक है? भारत का राष्ट्रवाद किस प्रकार से यूरोप के राष्ट्रवाद से भिन्न है?  राष्ट्रवाद राष्ट्रवाद को

राष्ट्रवाद एवं राष्ट्रीयता में अंतर | भारतीय राष्ट्रवाद बनाम यूरोपीय राष्ट्रवाद Read More »

राष्ट्रवाद क्या है | भारत का राष्ट्रवाद यूरोप से किस प्रकार अलग है

नमस्कार दोस्तों, आनंद सर्किल में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। आज हम लोग एक अत्यधिक व्यापक शब्द राष्ट्रवाद पर चर्चा करेंगे। आजकल हर किसी की जुबान पर राष्ट्रवाद, राष्ट्रवादी, राष्ट्रीयता, राष्ट्रहित जैसे शब्द चल रहे हैं। भारतीय राष्ट्रवाद, यूरोपीय राष्ट्रवाद, पश्चिमी राष्ट्रवाद, नाजी राष्ट्रवाद, मार्क्सवादी राष्ट्रवाद, हानी राष्ट्रवाद, माओवाद जैसे अनेक शब्द आजकल लोगों की

राष्ट्रवाद क्या है | भारत का राष्ट्रवाद यूरोप से किस प्रकार अलग है Read More »

सम्राट पोरस का इतिहास

क्या था सम्राट पोरस का इतिहास? नमस्कार दोस्तों अक्सर भारतीय इतिहास में यह बताया जाता है झेलम नदी के तट पर हुए सिकंदर एवं पोरस के युद्ध में सिकंदर ने पोरस को पराजित कर बंदी बना लिया था और बंदी बनाने के पश्चात सिकंदर ने पोरस से पूछा था कि तुम्हारे साथ क्या सुलूक किया

सम्राट पोरस का इतिहास Read More »

पुरातात्विक स्रोत क्या होते हैं | पुरातात्विक स्रोतों का अध्ययन क्यों जरूरी है

आइए दोस्तों आज हम चर्चा करेंगे पुरातात्विक स्रोत (archaeological source) क्या होते हैं, क्यों ये किसी संस्कृति अथवा सभ्यता का इतिहास जानने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, किस प्रकार से हम अतीत की घटनाओं के काल खंड का सही निर्धारण करते हैं और किन विधियों से करते हैं? आज के इस आर्टिकल में हम इसी

पुरातात्विक स्रोत क्या होते हैं | पुरातात्विक स्रोतों का अध्ययन क्यों जरूरी है Read More »

History kaise padhen | इतिहास पढ़ना क्यों जरूरी है

History kaise padhen- हमें किसी राष्ट्र, सभ्यता व संस्कृति का इतिहास जानने के लिए प्राचीन साहित्यिक ग्रंथों एवं पुरातात्विक स्रोतों का सूक्ष्म विश्लेषण करना होता है।

History kaise padhen | इतिहास पढ़ना क्यों जरूरी है Read More »

Scroll to Top
इस देश में सैकड़ों सालों तक धधकते रह सकते हैं ज्वालामुखी किसने दिया था “भारत भारतीयों के लिए” का नारा पहली बार इतने लोगों को मिला भारत रत्न पुरस्कार, जानिए सभी के नाम Munawar Faruqui- कौन हैं बिग बॉस 17 के विनर मुनव्वर फारुकी Bihar Politics- इतनी बार नीतीश कुमार ने मारी पलटी, ऐसे ही नहीं कहा जाता पल्टूराम नीतीश