इस देश में सैकड़ों सालों तक धधकते रह सकते हैं ज्वालामुखी

ज्वालामुखी पृथ्वी की सतह पर उपस्थित ऐसी दरार या मुख होता है जिससे पृथ्वी के भीतर का गर्म लावा, गैस, भस्म आदि बाहर आते हैं।

ज्वालामुखी (Volcano) नाम की उत्पत्ति रोमन आग के देवता वालकैन के नाम पर हुई थी

दुनिया भर हजारों की संख्या में ज्वालामुखी मौजूद हैं

जिनमे से सैकड़ों की संख्या में सक्रीय ज्वालामुखी हैं

इन सक्रीय ज्वालामुखी में अक्सर विस्फोट होता रहता है

कभी कभी इनमे कई कई दिनों तक लगातार विस्फोट होता रहता है

और कभी कभी तो दशको और सदियों तक

ऐसा ही एक नजारा यूरोपीय देश आइसलैंड में देखने को मिल सकता है

वैज्ञानिको के अनुसार 9वीं सदी में भी ऐसा ज्वालामुखी विस्फोट हुआ था, जो 12वीं सदी तक चला था

वैज्ञानिकों का मानना है ये ज्वालामुखी विस्फोट का 1000 सालों का चक्र है, जो हर 1000 साल में दोहराता है

वैज्ञानिको का ये भी कहना है कि पिछले 4000 सालों में अब तक ऐसा 3 बार हो चूका है