जेट एयरवेज के founder Naresh Goyal लगातार news में बने हुए हैं

आइये bank से धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस हिरासत में चल रहे नरेश गोयल की एयरलाइन्स कंपनी जेट एयरवेज की शुरुआत होने का सफ़र जानते हैं

8500 करोड़ के कर्ज से दबी एयरलाइन्स कंपनी जेट एयरवेज ने साल 2019 में अपनी एयरलाइन्स सर्विस बंद करने की घोषणा किया था

जेट एयरवेज की शुरुआत एक ट्रैवेल एजेंसी के रूप में हुई थी

नरेश गोयल ने ट्रेवल एजेंसी शुरू करने के लिए अपनी माँ से 52000 रुपये उधार लिए थे

बेहद गरीब परिवार में जन्मे नरेश गोयल 1967 में महज 18 साल की उम्र में बिल्कुल खाली हाथ दिल्ली पहुंचे थे

दिल्ली में उन्होंने कनॉट प्लेस से संचालित होने वाली एक ट्रैवल एजेंसी जॉइन की जिसे उनके चचेरे नाना चला रहे थे। इस नौकरी से उन्हें प्रति माह करीब 300 रुपये मिलने लगे

1974 में नरेश गोयल ने खुद की ट्रैवल एजेंसी खोल ली और जिसे उन्होंने जेट एयर का नाम दिया।

वर्ष 1991 में नरेश गोयल ने अपनी एयरलाइन्स कंपनी जेट एयरवेज शुरू की थी, जो बाद में 1993 में भारत की ऑफिसियल एयरलाइन्स बन गई

एविएशन इंडस्ट्री में गोयल का करियर शुरू से ही विवादों में रहा जब जेट की शुरुआती फंडिंग के स्रोतों पर सवाल उठे।