वे अपने आंतरिक विचारों और रायों पर ध्यान केंद्रित करने में अधिक सहज महसूस करते हैं, न कि उन पर कि बाहरी रूप से क्या हो रहा है

अंतर्मुखी व्यक्ति कभी भी भीड़ का अनुसरण नहीं करते तथा वे ऐसे लोग होते हैं जो अपने तरीके से अपना जीवन बिताना पसंद करते हैं।

अंतर्मुखी व्यक्तित्व के व्यक्ति संवेदनशील, कर्तव्यनिष्ठ और मितभाषी होते है। 

व्यक्तित्व के वर्गीकरण में इस वर्ग के व्यक्ति प्रायः संकोची होते हैं, समाज में अपने विचार रखने में संकोच करते हैं, और सामाजिक व्यवहार में उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं

शोध का अनुमान है कि 30-50% आबादी अंतर्मुखी है।

अंतर्मुखी व्यक्ति को अक्सर शांत, आरक्षित और विचारशील व्यक्ति माना जाता है

अंतर्मुखी स्वभाव के व्यक्ति कल्पना और विचारों के आंतरिक परिदृश्य में बहुत समय बिताते हैं

अंतर्मुखी स्वभाव के लोग अकेले रहकर कम करना ज्यादा पसंद करते हैं और हमेशा पर्दे के पीछे की भूमिकाएं चुनते हैं

अंतर्मुखी लोग बोलते बहुत कम हैं लेकिन उनमे आत्मविश्वास की कोई कमी नहीं होती

अंतर्मुखी लोगों में किसी की बात को बहुत ध्यान से सुनने की कला होती है